ATM का Full Name क्या है? | What is ATM Full Name in Hindi?

आजकल बैंक से पैसे निकालना बहुत आसान हो गया है, भीड़ भी नहीं होती बैंक में. सबसे बड़ी बात sunday के दिन भी बैंक से पैसे निकाल सकते हैं. कोई problem ही नहीं। यह सब संभव हो पाया है ATM के कारण। जहाँ ATM की वजह से बैंक के स्टाफ का work-load कम हुआ है, वहीँ customer का टाइम भी ATM ने बचाया है. बल्कि, आजकल तो shopping हो या resturant का bill भरना हो सब ATM से possible है.

मैं इतनी देर से एटीएम की बात कर रही हूँ, लेकिन किसी ने मुझसे नहीं पूछा की आखिर, ATM ka full name क्या है? (What is ATM Full Name in Hindi?). ATM का अविष्कार किसने किया? एटीएम कैसे काम करता है या  यह कितने प्रकार का होता है?

इस से पहले की मैं यह बताऊं की एटीएम का फुल फॉर्म बताऊँ? शायद, आपको जानकार हैरानी होगी की अलग-अलग देशों में एटीएम के अलग-अलग नाम हैं. जैसे- Automatic Banking Machine, Cashline, Cashpoint, Cash Machine, Cash Corner और Hole in the Wall आदि.

एटीएम का फुल फॉर्म क्या है? (ATM ka Full Form Kya Hai?)

Full Form of ATM: Automated Teller Machine

ATM ka full form Hindi me: स्वचालित गणक मशीन

अन्य क्षेत्रों में ATM की फुल फॉर्म कुछ इस प्रकार है, जैसे-

Aviation के क्षेत्र में, Full form of ATM: Air Traffic Management 

सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में, Asynchronous Transfer Mode

Association of Teachers of Mathematics (ATM की अन्य फुल फॉर्म) एक NGO (Non-profit organization) है.

एटीएम का अविष्कार किसने किया?

साल 1939 में लूथर जॉर्ज सिमियल ने एटीएम का अविष्कार किया। उस समय एटीएम को Bankmatic के नाम से जाना जाता था. साल 1961 में, न्यूयार्क के सिटी बैंक में पहली बार और पहला एटीएम मशीन लगाया गया. लेकिन, उस समय लोगो को मशीन के द्वारा पैसे का लेन-देन का यह जरिया समझ नहीं आया और एटीएम मशीन उतनी प्रचलित नहीं हुई, जितना की उन्हें होना चाइये था.

साल 1966 में, जापान में बैंकों द्वारा एटीएम मशीन का प्रयोग किया गया, जिसकी वजह से बैंकों को काफी मुनाफा हुआ, बैंकों में भीड़ की कमी हुई जिसके कारण बैंक का स्टाफ अन्य कामों पर ध्यान दे पाए. धीरे-धीरे जापान देश के अन्य बैंक भी एटीएम मशीन  उपयोग करने लगे.

आपको शायद यह जानकर हैरानी होगी की ATMIA के अनुसार, पूरे विश्व में 35 लाख से भी ज्यादा ATM बैंकिंग के क्षेत्र में प्रयोग होते हैं.

क्या हुआ,क्या सोच रहें हैं आप लोग, की ATMIA क्या है? ATMIA industry Association है, जिसकी स्थापना साल 1997 में सयुंक्त राज्य अमेरिका में हुई. इस संस्था का मुख्य उद्देश्य यह था की विश्व में लगे ATM में यदि कोई तकनीकी खराबी है तो वह उसको सही करे. साथ ही यह संस्था विश्व भर के सभी देशों में लगे एटीएम का रिकॉर्ड भी अपने पास रखती है.

ATM क्या है? | What is ATM in Hindi?

यह एक इलेक्ट्रो-मैकेनिकल मशीन है. जिसका उपयोग पैसों को निकालने के लिए किया जाता है. जैसे बैंक में कैशियर पैसे गिनकर ग्राहक को भुगतान करता है, वैसे ही मशीन भी करती है.

आजकल बढ़ती टेक्नोलॉजी के कारण एटीएम मशीन न केवल पैसे निकालने बल्कि पैसों  को जमा करने, चेक जमा करना, बिल जमा करना, पिन बदलने का भी काम करती है.

एटीएम से  पैसे निकालने के लिए आपको एक कार्ड दिया जाता है, जिसे डेबिट या क्रेडिट कार्ड भी बोलते हैं. उसमे एक मैग्नेटिक स्ट्रिप लगी होती है. जब कभी भी भी आप उस कार्ड को एटीएम मशीन में इन्सर्ट करते हैं तो मैग्नेटिक स्ट्रिप में स्टोर इनफार्मेशन जैसे खाताधारक की डिटेल्स आदि रीड हो जाती हैं और आपके बैंक अकाउंट से transcation संभव हो पता है.

एटीएम कितने प्रकार के होते हैं? | Types of ATM in Hindi

एटीएम कई प्रकार के होते हैं,

Onsite ATM

जो एटीएम बैंक के अंदर होते हैं, Onsite ATM कहलाते हैं.

Offsite ATM

जो एटीएम बैंक से बाहर जैसे- मॉल, सोसाइटी आदि में स्थित होते हैं. Offsite ATM कहलाते हैं.

Online ATM

यह एटीएम 24*7 बैंक से ऑनलाइन जुड़े होते हैं.

Offline ATM

यह एटीएम बैंक से ऑनलाइन नहीं जुड़े होते हैं. यदि आपके खाते में एक सिमित राशि नहीं है तो आप पैसे नहीं निकाल सकते हैं.

White-label ATM

वे एटीएम, जो गैर बेकिंग वित्तीय कंपनी से जुड़े होते हैं. White-label ATM कहलाते हैं.

Yellow-Label ATM

यह एटीएम E-commerce के लिए प्रयोग किये जाते हैं.

Pink-Label ATM

वे एटीएम जो महिलाओं के लिए लगाएं गए हैं.

Green-Label ATM

वे एटीएम जो कृषि से सम्बंधित लेन-देन के लिए प्रयोग किये जाते हैं.

ATM से जुड़े कुछ प्रश्न

प्रश्न-1 ATM pin number कितने अंकों का होता है?

शुरुआत में एटीएम पिन नंबर 6 अंकों का था, लेकिन, जॉन शेफर्ड बैरोन की पत्नी 6 अंकों का पिन नंबर याद रखने में असमर्थ थी. तब, श्रीमान बैरोन ने इन 6 अंकों की पिन को बदलकर 4 अंकों का बनाया।

प्रश्न-2 विश्व का पहला Floating ATM कहाँ है?

पहला floating ATM, स्टेट बैंक (केरल) में है.

प्रश्न-3 भारत में पहला एटीएम किसने लगाया था?

पहला एटीएम HSBC द्वारा, साल 1987 में लगाया गया था.

प्रश्न-4 विश्व का पहला एटीएम कहाँ लगाया गया था?

बार्क्लेज़ बैंक, लंदन में, जून 1967 को पहला एटीएम लगाया गया था.

प्रश्न-5 सबसे पहले एटीएम का उपयोग किसने किया था?

रेग वर्नी (हास्य कलाकार) पहले व्यक्ति थे, जिन्होने सबसे पहले एटीएम से cash निकाला।

शायद, आपको जानकार हैरानी होगी की ब्राजील में बायोमेट्रिक एटीएम (Biometric ATM) का उपयोग किया जाता है.

आशा है की यह article पढ़ कर आपको सम्पूर्ण जानकारी मिली होगी। जैसे- ATM ka pura naam, ATM full form in Hindi, ATM kya hai, ATM ka Avishkar kisne kiya, ATM kitne prakar के होते हैं (Types of ATM in Hindi).

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles